निलम्बन की कगार पर निलेश रघुवंशी!

खरगोन का भुतपूर्व विवादास्पद सहायक आयुक्त निलेश रघुवंशी नौकरी से निलंबित होने की कगार पर है, खबर इंडिया को भोपाल के सुत्रो से पता चला है. आदिवासी बाहुल्य खरगोन जिले में अपने कार्यकाल के दौरान रघुवंशी ने विभाग को पूरी तरह से बिचोलियो के हाथो में सौप दिया था. जुलाई 2017 में जिले के छात्रावास […]

Continue Reading

निलेश रघुवंशी वापस खरगोन आने की फ़िराक में

विश्वस्त सुत्रो के मुताबिक विवादास्पद सहायक आयुक्त निलेश रघुवंशी वापस खरगोन आने की फ़िराक में है. खरगोन से तबादला होने के छह महीने बाद भी रघुवंशी ने बिमारी की आड़ लेकर अब तक दुसरी जगह ज्वाईन नही किया है और उसकी नजर फ़िर से कमाई वाले आदिवासी बाहुल्य जिले पर है. अपने कार्यकाल के दौरान […]

Continue Reading

ईमानदार सहायक आयुक्त के तबादले के लिए भोपाल डेरा डालकर बैठा दलाल

खरगोन जिले के ट्राईबल विभाग को निलेश रघुवंशी जैसे दलालो की कठपुतली बनकर रहने वाले अधिकारी की रवानगी के बाद अब कई सालो के बाद सुरज डामोर के रूप में एक ईमानदार और कर्तव्यनिस्ठ सहायक आयुक्त मिली है. हालाकि, खरगोन के कुछ दलालो को मेडम की ईमानदारी रास नही आ रही है. बरसो से ट्राईबल […]

Continue Reading

सरकार नहीं, दलालो का अधिकारी है निलेश रघुवंशी

निलेश रघुवंशी, खरगोन का पूर्व विवादास्पद सहायक आयुक्त जिसने दलालो के साथ साठगांठ करके जुलाई में हुए छात्रावास अधिक्षको के स्थानान्तरण की सूची में लाखों के वारे-न्यारे कर लिए थे, तनख्वाह तो सरकार से लेता है, लेकिन काम दलालो के लिए करता है. ईमानदारी की बड़ी-बड़ी बाते करने वाला निलेश रघुवंशी जब तक खरगोन में […]

Continue Reading

खरगोन आजाक का सबसे बड़ा घोटाला, निलेश ऱघुवंशी दलालो की नौकरी बजाता था

निलेश रघुवंशी, खरगोन सहायक आयुक्त की कार्यप्रणाली की एक झलक, कि किस तरह इस सेकंड क्लास अधिकारी ने दलालो की गोद में बैठकर सरकारी व्यवस्था की धज्जिया उड़ाई है : 1. निलेश रघुवंशी किस तरह दलालो के साथ मिलकर आदिवासी समाज कॆ उत्थान लिए बनाये गए आजाक विभाग को दलालो का अड्डा बना चुके हैं, […]

Continue Reading