गुरुग्राम में महिला स्वास्थ्य कर्मी की संदिग्ध हालत में मौत, 16 जनवरी को लगी थी कोरोना वैक्सीन

गुरुग्राम में महिला स्वास्थ्य कर्मी की संदिग्ध हालत में मौत, 16 जनवरी को लगी थी कोरोना वैक्सीन

दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम जिले में शुक्रवार को एक महिला स्वास्थ्य कर्मी की संदिग्ध हालत में मौत होने का मामला सामने आया है। 16 जनवरी को ही महिला को कोरोना वैक्सीन लगी थी। महिला के परिजनों ने मामले की शिकायत पुलिस को दी है। परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार, गुरुग्राम जिला स्वास्थ्य विभाग की महिला स्वास्थ्य कर्मचारी की शुक्रवार सुबह अचानक संदिग्ध हालत में मौत हो गई। महिला के परिजनों का आरोप है कि कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद महिला की मौत हुई है। परिजनों ने इस मामले की निष्पक्ष जांच के लिए न्यू कॉलोनी थाने में शिकायत दी है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने महिला के शव का पोस्टमॉर्टम मेडिकल बोर्ड से करवाया। आगे की कार्रवाई के लिए पुलिस को अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट मिलने पर मौत के कारणों का पता चल पाएगा। हालांकि, इस घटना के बाद से स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

मृतक महिला के पति लाल सिंह सरोहा ने बताया कि उनकी पत्नी राजवंती (55) भांगरोला स्थित प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में बतौर महिला हेल्थ विजिटर तैनात थीं। 16 जनवरी को उन्हें पीएचसी पर ही कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई थी।

परिजनों के मुताबिक, महिला को पहले से किसी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत नहीं थी। शुक्रवार सुबह महिला के नहीं उठने पर उनके पति लाल सिंह ने उन्हें आवाज लगाई, लेकिन उसके बाद भी वह नहीं उठीं। परिजनों ने महिला को हिलाया, तो भी वह नहीं उठी। इस पर परिजन उसे गाड़ी में मेदांता अस्पताल ले कर गए, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद महिला को मृत घोषित कर दिया।

परिजनों की शिकायत के बाद पुलिस ने महिला के शव का पोस्टमॉर्टम कराया है। महिला के पति लाल सिंह का आरोप है कि वैक्सीन लगने के बाद ही उनकी पत्नी को कुछ हुआ है। उनकी पत्नी को इससे पहले किसी भी तरह की कभी स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत नहीं रही।