बेटे की शादी के बाद बिना मिठाई के ही जेल पहुंचे लालू

0
7

बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी के बाद लालू प्रसाद यादव की पेरोल खत्म हो गई और वो सोमवार (14 मई) को वापस रांची पहुंच गए। उन्हें वापस रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागर में ले जाया गया। लालू प्रसाद जब जेल पहुंचे तो थोड़ी ही देर के बाद जेल के अन्य कैदियों ने लालू प्रसाद से बेटे की शादी की मिठाई की डिमांड कर दी। इसपर लालू प्रसाद ने अपने अंदाज में कैदियों को जवाब देते हुए कहा कि (‘मिठाई पीछे से आवअता’, हम त प्लेन में आइल बानी, गाड़ी से आवता, कल होई जम के पार्टी, सब के मिठाई मिली’)  मिठाई पीछे से आ रहा है। हम तो प्लेन से आए हैं। गाड़ी से मिठाई आ रही है कल पार्टी होगी सबको मिठाई मिलेगा। इससे पहले रांची पहुंचने के बाद लालू को एयरपोर्ट से व्हील चेयर के सहारे बाहर लाया गया। जिस वक्त लालू प्रसाद यादव को जेल भेजा गया उस वक्त जेल के बाहर भारी संख्या में उनके समर्थक मौजूद थे।

पटना में 12 मई को लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी थी। इस शादी में शामिल होने के लिए लालू यादव ने पेरोल की अर्जी अदालत में लगाई थी जिसे अदालत ने मंजूर कर लिया था। इधर लालू यादव की तरफ से अपनी खराब सेहत के आधार पर जमानत के लिए अदालत में अर्जी भी दाखिल की गई थी। लालू प्रसाद यादव को छह हफ्तों की जमानत फिलहाल मिल गई है। सोमवार को कोर्ट की कार्यावधि तक हाईकोर्ट के फैसले की कॉपी नहीं मिल पाने के कारण लालू यादव का बेल बॉन्ड नहीं भरा जा सका।