20 विधायकों पर एक्शन हुआ तो चुनाव से पहले गिर जाएगी बीजेपी सरकार

0
43

दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य करार दिए जाने की खबर से बीजेपी बेहद खुश है लेकिन दिल्ली में आम आदमी की सरकार फिर भी सेफ रहेगी लेकिन अगर चुनाव आयोग की कार्रवाई आगे बढ़ी तो बीजेपी के हाथ से दो पूर्ण राज्यों की सरकार निकल सकती है. केजरीवाल की सरकार अल्पमत में तो नहीं आ रही लेकिन छत्तीसगढ़ के 11 संसदीय सचिवों पर भी विधायकी खतरे में पड़ गई है. अगर इन दोनों राज्यों में ऐसा हुआ तो बीजेपी की सरकार अल्पमत में आ जाएगी. छत्तीसगढ़ राज्य की कुल 90 सीटों में बीजेपी के पास 49 विधायक हैं. जबकि बहुमत के लिए उनके पास 46 विधायक होने चाहिए. इसके बाद उसेक पास बहुमत से 8 विधायक कम हो जाएंगे.

दूसरा राज्य हरियाणा है. हरियाणा में पिछले साल खट्टर सरकार ने चार बीजेपी विधायकों को मुख्य संसदीय सचिव नियुक्त किया था, जिसे पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने अमान्य घोषित कर दिया था. जाहिर बात है बिना सुविधा लिए संसदीय सचिव बने विधायक की सदस्यता जा सकती है तो सुविधा लेने वालों की क्यों नहीं. हरियाणा विधानसभा में कुल 90 सीट हैं. अभी उसके पास 47 विधायक हैं चार कम होते हैं तो पार्टी के सदस्यों की संख्या बहुमत के लिए ज़रूरी 46 से सीधे 43 पर आ जाएगी. इस मामले में राज्यपाल को शिकायत करने की कवायद भी शुरू हो गई है. विधायक श्याम सिंह राणा, कमल गुप्ता, बख्शीश सिंह विर्क और सीमा त्रिखा को खट्टर सरकार ने मुख्य संसदीय सचिव नियुक्त किया था.’